इतिहास के पन्नों में 16 जून

इतिहास के पन्नों में 16 जून: आज ही के दिन हुआ था देशबंधु का निधन

देशबंधु का निधनः भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख राष्ट्रवादी नेता व देशबंधु के नाम से सुविख्यात चितरंजन दास का 16 जून 1925 को दार्जिलिंग में तेज बुखार की वजह से निधन हो गया। देशबंधु चितरंजन दास प्रखर राष्ट्रवादी नेता के साथ-साथ कुशल अधिवक्ता और पत्रकार भी थे। 05 नवंबर 1870 को कलकत्ता के धनाढ्य परिवार […]

इतिहास के पन्नों में 16 जून

इतिहास के पन्नों में 15 जून: देश की छाती में गढ़ा था बंटवारे का नश्तर

बंटवारे के प्रस्ताव को स्वीकृतिः साल 1947 में तेजी से बदल रही परिस्थितियां नये रूप-रंग में सामने आ रही थीं। इसमें भारत की आजादी जैसे फूल थे तो देश के बंटवारे का नश्तर भी। 03 जून को लॉर्ड माउंटबेटन की विभाजनकारी योजना ‘थर्ड जून प्लान’ कांग्रेस और मुस्लिम लीग के नेताओं के सामने रखी जा […]

इतिहास के पन्नों में 16 जून

इतिहास के पन्नों में 14 जून: आज ही के दिन हुआ था टेनिस की महारानी का जन्म

जन्म टेनिस की महारानी काः लोकप्रियता का पैमाना और खेल का मुहावरा बदलकर टेनिस की साम्राज्ञी बनीं जर्मनी की स्टेफी ग्राफ 14 जून 1969 को पैदा हुईं। 80-90 के दशक में टेनिस कोर्ट्स पर एकछत्र राज करने वाली स्टेफी ने 22 ग्रैंड स्लैम सहित 107 प्रतियोगिताएं जीतीं। इनमें ग्रैंड स्लैम की खिताबी जीत थी- सात […]

इतिहास के पन्नों में 16 जून

इतिहस के पन्नों पर 13 जून: उपहार सिनेमा कांड

सिनेमा हॉल में ‘बॉर्डर’ और आ धमकी मौतः आज से 24 साल पहले 13 जून, 1997 को दक्षिण दिल्ली के ग्रीन पार्क स्थित उपहार सिनेमा में लोग ‘बॉर्डर’ फिल्म के रोमांचकारी डॉयलॉग में मग्न थे, कि अचानक पहले धुआं और फिर आग की चपेट में आ गये। लोग कुछ समझ पाते और बाहर निकलते, उसके […]

मध्य प्रदेश में बन रहा देश का पहला डायनासोर पार्क

धार। मध्या प्रदेश के धार जिला मुख्यालय से लगभग 30 किलोमीटर और मांडू से महज 5 किलोमीटर दूरी पर बनकर तैयार प्रदेश का पहला डायनासोर फॉसिल्स पार्क लॉकडाउन समाप्ति के साथ ही पर्यटकों के लिए जल्द खोल दिया जाएगा। कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने पहली नजर में इस स्थल की बेहतरीन पर्यटक स्थल के रूप […]

आगे आएं और अनाथ बच्चों को गलत हाथों में जाने से बचाएं

– सीफार के तत्वावधान में बाल सुरक्षा व संरक्षण पर वर्चुअल परिचर्चा आयोजित – योजनाओं का लाभ लेने व सम्पत्ति हड़पने की मंशा से मदद का हाथ बढ़ाने वालों से रहें सतर्क – महिला कल्याण विभाग के सलाहकार नीरज मिश्रा ने मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के बारे में दी जानकारी – ऐसे बच्चों की जानकारी […]

इतिहास के पन्नों में 16 जून

इतिहास के पन्नों में 10 जून: क्रिकेट के मक्का में टीम इंडिया ने रचा था इतिहास

लॉर्ड्स पर यादगार जीतः भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के लिए 10 जून 1986 यादगार तारीख है। इसी दिन भारतीय टीम ने क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाले ऐतिहासिक लॉर्ड्स के मैदान पर पहली बार टेस्ट मैच में जीत हासिल की। कपिल देव की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने इंग्लैंड को पांच विकेट से शिकस्त देकर यह […]

दक्षिण अफ्रीका की महिला ने एक साथ दिया 10 बच्चों को जन्म

दक्षिण अफ्रीका की महिला ने एक साथ दिया 10 बच्चों को जन्म

प्रिटोरिया/नई दिल्‍ली। दक्षिण अफ्रीका की महिला ने एक बार में 10 बच्चों को जन्म दिया है। जानकारी के अनुसार ये सभी बच्चे ऑपरेशन के बाद हुए। एक ही प्रेगनेंसी से अधिकतम बच्‍चों को जन्म देने का रिकॉर्ड इसके पहले माली की हलीमा सिस्से के नाम है, जिन्होंने मई महीने में मोरक्को के एक अस्पताल में […]

इतिहास के पन्नों में 16 जून

इतिहास के पन्नों में 08 जून: एयर इंडिया ने भरी थी पहली अंतरराष्ट्रीय उड़ान

क़ामयाबी का आसमानः .गुलामी की लंबी क़ैद के बाद आज़ाद मुल्क भारत भविष्य के सुनहरे ख़्वाब संजो रहा था। इन्हीं सपनों में शामिल था- भारत की अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवा। भारतीय सिविल एविएशन के क्षेत्र में नित नयी सफलता अपने नाम करने वाली एयर इंडिया की पहली अंतरराष्ट्रीय उड़ान 08 जून 1948 को मुंबई और लंदन […]

पहले मजबूरी अब लोगों की पसंद बन रहा ‘काढ़ा’, गांवों में खुल रहे काढ़ा कैफ़े

रायबरेली। कभी स्वाद के मामले में पसंद न आने वाला काढ़ा कोरोना काल में लोगों का पंसदीदा पेय बनाता जा रहा है। आयुर्वेद और घरेलू चीजों से तैयार यह बेहतरीन पेय घर—घर में स्थान बना चुका है। घरों में तो यह रोज़ाना के मीनू में शामिल हो ही गया है, चाय की दुकानों में भी […]

इतिहास के पन्नों में 16 जून

इतिहास के पन्नों में 07 जून: जानिए देश दुनिया क्या- क्या महत्वपूर्ण घटनाएं घटी थीं

…जब गांधीजी को धक्के देकर ट्रेन से उताराः 07 जून राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सविनय अवज्ञा के लिए जाना जाता है, जब उन्होंने पहली बार इसे आजमाया। हुआ यह कि 1893 में महात्मा गांधी एक साल के कॉन्ट्रैक्ट पर वकालत करने दक्षिण अफ्रीका गए और वहां नटाल प्रांत में रह रहे थे। एकदिन वे वैध […]

इतिहास के पन्नों में 16 जून

इतिहास के पन्नों में 04 जून: पूरी दुनिया के सामने आया था चीन का बर्बर चेहर

बर्बर चीन के खिलाफ टैंकमैन का हौसलाः  04 जून 1989- चीन की राजधानी बीजिंग का मशहूर थियानमेन स्कावयर। सुधारवादी कम्युनिस्ट नेता हू याओबांग की अप्रैल में मौत के बाद लोगों में सरकारी नीतियों को लेकर गुस्सा था। राजनीतिक व्यवस्था को लेकर इनका असंतोष अधिक था। बड़ी संख्या में छात्र व युवा ताक़त की अगुवाई में […]