भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के लिए डेल्टा वेरियंट जिम्मेदार

अब शरीर की गंध से पता चलेगा कि कोरोना है या नहीं

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के लिए डेल्टा वेरियंट जिम्मेदार है। कोरोना वेरियंट के जीन सीक्वेंसिंग के लिए गठित 10 लैब के समूह के अध्ययन में पाया गय़ा कि देश में दूसरी लहर के लिए बी.1.617 और डबल म्यूटेंट बी 1.617.2 वेरियंट जिम्मेदार रहा है। यह वेरियंट 50 प्रतिशत ज्यादा तेजी से फैलता है। इसी के कारण देश में कोरोना संक्रमण तेजी से फैला।

नेशनल सेंटर फार डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) की ओर से गठित दस लैब के समूह ने देश में फैले संक्रमण के लिए जिम्मेदार वायरस की जीन सीक्वेंसिंग की। इसमें पाया गया कि दूसरी लहर में डेल्टा वेरियंट ज्यादा तेजी से फैला। देश में पहली लहर के लिए अल्फा वेरियंट(बी1.1.7) जिम्मेदार रहा है। डेल्टा अल्फा से 50 प्रतिशत अधिक तेजी से फैलता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने देश में पाए गए वायरस के नए स्वरूपों यानी वेरियंट्स को नाम दिया है। लोगों को यह नाम जल्दी याद हो जाए, इसलिए इनका नामकरण अल्फा, बीटा, गामा, कप्पा, डेल्टा जैसे रूप में किया गया। डब्लूएचओ ने भारत में पाए गए करोना वायरस के दो स्वरूप बी 617.1 को कप्पा और बी 617.2 को डेल्टा नाम दिया है।

Related posts