कटे सिर को बिना ढके कोतवाली ले जाने वाला सिपाही निलंबित

हरदोई | प्रेम प्रसंग को लेकर बेटी का सिर धड़ से अलग करने वाले आरोपित पिता को पुलिस ने जेल भेज दिया है। वहीं, कटे सिर को ढके बिना बाल पकड़कर ले जाने के मामले में सिपाही राहुल बौद्ध को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही विभागीय कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।
सिपाही का वीडियो और फोटो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद आईजी लक्ष्मी सिंह ने स्वत: संज्ञान लेते हुए सिपाही को निलंबन करने के निर्देश एसपी अनुराग वत्स को दिए। आईजी ने कहा कि आरक्षी का आचरण मानवीय मूल्यों व पुलिस के प्रोटोकॉल के विपरीत है, जिसके लिए आरक्षी को निलंबित किया गया है। उन्होंने इससे पहले ट्वीट के माध्यम से कहा था कि हम मानवीय गरिमा, मर्यादा व नारी सम्मान को सर्वोपरि मानते हैं।
क्या है पूरा मामला ?
जानकारी के मुताबिक, आरोपी हरदोई के मंझिला थाना क्षेत्र में पांडेतारा गांव का रहने वाला है। उसका नाम सर्वेश है। सर्वेश ने 2 दिन पहले बेटी को गांव के ही आदेश नाम के लड़के के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया था। उस वक्त तो वह शांत रहा, लेकिन गुरुवार को जब उसकी पत्नी खेत पर गई थी, तो बेटी को घर में अकेले पाकर सर्वेश ने धारदार हथियार से उसका गला रेत दिया। इसके बाद वह सिर लेकर थाने पहुंच गया।

पुलिस से भी हुई चूक

इस घटना में एक पिता का अपराध तो जघन्य है ही, लेकिन जांच के दौरान पुलिस का अमानवीय चेहरा भी देखने को मिला। एक पुलिसकर्मी ने मृत लड़की के कटे हुए सिर को बालों से पकड़कर उठाया। उसने इसे किसी कपड़े से ढंकना तक मुनासिब नहीं समझा। इस पुलिसकर्मी की संवेदनहीन हरकत का फोटो भी वायरल हुआ है।जिसके बाद उस सिपाही को निलंबित कर दिया गया |